सामाजिक डार्विनवाद

भारतपीडिया से
नेविगेशन पर जाएँ खोज पर जाएँ

सामाजिक डार्विनवाद (Social Darwinism) सन् १८७० के बाद इंग्लैण्ड और संयुक्त राज्य अमेरिका में जन्मे अनेकों सामाजिक सिद्धान्तों का आधुनिक नाम है जिनके अनुसार किसी सामाज में शक्तिशाली लोगों का प्रभाव व धन बिना रोकटोक बढ़ते रहना चाहिये जबकि निर्बलों का कम होते जाना चाहिये।

इन्हें भी देखें[सम्पादन]

बाहरी कड़ियाँ[सम्पादन]